हॉकी पर निबंध | Essay on Hockey in Hindi

हॉकी पर निबंध – हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल है। हालाँकि आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं की गई है। हॉकी भारत में कई दसको से खेला जा रहा है। हमारे देश में हॉकी खेल के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। देश में क्रिकेट की लोकप्रियता के चलते युवा पीढ़ी इन इन खेलों से पीछे हट रही है।

हॉकी खेल को खेलने के लिए एक हॉकी स्टिक और गेंद के आवश्यकता पड़ती है। जिसमे एक टीम के खिलाड़ी हॉकी स्टिक से गेंद को विपक्ष टीम में पाले में मारते है और विपक्ष टीम उसे रोकती हैं। मेजर ध्यानचंद के नेतृत्व में सन 1928 से 1956 के बीच में भारत ने छह बार स्वर्ण पदक जीत चुका है। मेजर ध्यानचंद केवल भारत के ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के हॉकी खिलाड़ी के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी माने जाते हैं।

हॉकी खेल के बारे में जानकारी

हॉकी एक अंतराष्ट्रीय खेल है जो भारत के साथ-साथ होलैंड, जर्मनी, आयरलैंड, स्कॉटलैड, फ्रांस, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान आदि देशो में खेला जाता है। हॉकी आउटडोर खेल है। हॉकी खेलने के लिए दो टीम की आवश्यकता होती हैं जिनमे 11-11 खिलाड़ी होते हैं।

प्रत्येक टीम में एक गोलकीपर, दो बैक, तीन हाफबैक और पांच फॉरवर्ड खिलाड़ी होते हैं। जो टीम का मुख्य खिलाड़ी होता है उसे कप्तान बनाया जाता है। खेल का निर्णय करने के लिए दो रेफरी या अंपायर तैनात किये जाते है। सभी खिलाडियों को रेफरी द्वारा बताये गए निर्देशों का पालन करना पड़ता है।

एक टीम के सभी खिलाड़ी एक तरह ही के ड्रेस पहनते है लेकिन गोलकीपर का ड्रेस अन्य खिलाड़ियों के ड्रेस से अलग होती है। खेल शुरू करने से पहले सिक्का उछलकर टॉस किया जाता है तो टीम टॉस को जीतती है ओर निर्णय करती है कि उसे कौन सक पक्ष लेना है।

हॉकी खुले मैदान में खेला जाता है लेकिन आजकल बंद स्टेडियम के अंदर आर्टिफिशियल घास पर भी खेला जाता है।, इसका मैदान 92 मीटर लंबा और 52 से 56 मीटर चौड़ा होता है और मैदान दो बराबर भागों में बांट दिया जाता है। जिसमे एक टीम मैदान के एक छोर में तो विरोधी टीम मैदान के दूसरे छोर में रहती है। मैदान के दोनों तरफ गोल करने के लिए गोल बने होते है।

हॉकी खेलने के लिए खिलाड़ियों को कुछ चीजों की आवश्यकता पड़ती है जैसे हेलमेट, पैड, गर्दन गार्ड, जॉकस्ट्रैप, कोहनी पैड, हॉकी स्टिक और एक गेंद शामिल हैं। इस खेल की अवधि 60 मिनट होती है जिसमे दोनों टीम को 15-15 मिनट के 4 क्वार्टर के रूप में खेलाया जाता है।

हॉकी खेल बहुत तेज खेला जाने वाला खेल हैं, जिसमें एक टीम के खिलाड़ी गेंद को हॉकी स्टिक से विपक्ष वाली टीम के पाले में गोल करता हैं। और दूसरी वाली टीम गोल होने से रोकती हैं। जो टीम सबसे ज्यादा गोल करती है उसी विजेता घोषित कर दिया जाता है।

हॉकी खेल के नियम

  1. हॉकी दो टीमें होती हैं और प्रत्येक टीम में 11-11 खिलाड़ी होते हैं।
  2. खेल की अवधि 60 मिनट की होती है जिसमे 15-15 मिनट के 4 क्वार्टर होते हैं।
  3. हॉकी का चपटा भाग ही हॉकी खेलने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  4. इस खेल में गेंद को हाथ से रोकना फाउल माना जाता है।
  5. बिना हॉकी स्टिक के गेंद को मारना या फेकना प्रतिबंध होता है।
  6. हॉकी स्टिक को कंधों से ऊपर नहीं ले जाना चाहिए।
  7. खिलाड़ी को चोट लगने स्थित में खेल को बीच पर ही रोका जा सकता है।
  8. अगर टीम कोई भी खिलाड़ी फाउल करता है तो उसकी विपक्षी टीम को पॉइंट मिलता है।
  9. गेंद को उछालकर उसे जोर से मारकर खतरनाक स्थित बनाना निषेध है।
  10. खेल में अंतिम निर्णय रेफरी का होता है। और हर खिलाड़ी निर्णय मानना पड़ता है।

हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल है।

  1. हॉकी भारत का राष्ट्रीय खेल है।
  2. हॉकी खेल में भारत ने लगातर 6 स्वर्ण पदक जीते हैं।
  3. मेजर ध्यानचंद को हॉकी का जादूगर कहा जाता है।
  4. इस खेल को खेलने के लिए हॉकी स्टिक और गेंद की आवश्यकता पड़ती है।
  5. हॉकी खेल को बहुत तेज गति से खेला जाता है।
  6. हॉकी के मैच की अवधि 60 मिनट होती है।
  7. इस खेल को खेलने के लिए प्रत्येक खिलाड़ी के पास एक हॉकी स्टिक होती है।
  8. हॉकी स्टिक लकड़ी की बनी होती है।
  9. इस खेल को 11-11 खिलाडियों की दो टीमें एक दूसरे के खिलाफ खेलती हैं।
  10. हॉकी खेल को पुरुषों के साथ-साथ महिलायें भी खेलती हैं।

इन्हें भी पढ़े –

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment