स्वतंत्रता दिवस पर निबंध | Essay on Independence Day in Hindi

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध – 15 अगस्त भारत का राष्ट्रीय पर्व है, जिसे पूरे देश में बड़े उत्साह के साथ मनाया जाता है। 15 अगस्त 1947 को हमारा देश आजाद हुआ था इसलिए इसे स्वतंत्रता दिवस भी कहते हैं।

देश की आजादी के लिए हमारे देश के वीर सपूतों ने अपने प्राण तक न्यौछावर कर दिए। इस दिन स्वतंत्रता सेनानियों की याद में श्रद्धांजलि अर्पित कर तिरंगा फहराया जाता है।

स्वतंत्रता दिवस पूरे देश के लिए एक गौरव दिवस है जिससे हर धर्म के लोग हिन्दू, मुश्लिम, इसाई, बौद्ध, जैन आदि सभी लोग एक साथ मिलकर बड़े जोश और उमंग के साथ मानते हैं।

15 अगस्त हर भारतीय के लिए बहुत बड़ा महत्व रखता है। इस दिन देश भर में सार्वजनिक छुट्टी रहती है और भी सरकारी दफ्तर, कार्यालयों में ध्वजारोहण किया जाता है।

स्वतंत्रता दिवस क्या है – What is Independence Day in Hindi

हर साल 15 अगस्त को भारत में राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाया जाता है। हमारे देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी ने आजादी मिलने के बाद पहली बाद दिल्ली के लाल किले पर झंडा फहराया था और और देश को सम्बोधित भी किया था। तब से लेकर हर वर्ष लाल किले पर भारत के प्रधानमंत्री द्वारा झंडा फहराया जाता है।

इस शुभ अवशर में शामिल होने के लिए दुनियाभर से लोग आते है। यहाँ पर सबसे पहले तिरंगा फहराया जाता है फिर राष्ट्रीय गान गया जाता है। हमारे देश के सैनिक अपना सैन्य प्रदर्शन करते हैं, 21 तोपों की सलामी देते हैं, पूरे जोश के साथ सशस्त्र बलों परेड निलालते है। इसके बाद भारत के प्रधानमंत्री देश की जनता को सम्बोधित करते हैं और राष्ट्रीय की स्वतंत्रता को बरकरार रखने के लिए प्रेरित करते है।

स्वतंत्रता दिवस का इतिहास – History of Independence Day in Hindi

सन 1757 में भारत देश पर अंग्रेजों ने कब्ज़ा कर लिया था और ब्रिटिश शासन स्थापना की। इस शासनकाल के समय लोग का जीवन बहुत दयनीय था। भारतीयों के साथ भेदभाव और मारपीट किया जाता था। भारतियों को कुछ भी कहने का मौका नहीं दिया जाता था, वो अंग्रेजी हुकूमत के कठपुतली मात्र थे।

देश के नागरिक भूख से मर रहे थे क्योंकि उनके पास खेती करने के साधन उपलब्ध नहीं थे। अंग्रेजों के द्वारा देश के नागरिकों को पर कई अत्याचार किये गए। इसके बाद हमारे देश के कुछ वीर सपूतों ने देश को आजाद करने का निर्णय लिया और कठिन संघर्ष किया।

अंग्रेजों ने भारत पर 200 वर्षों से अधिक समय तक अपना शासन किया। सन 1857 में देश को स्वतंत्र कराने के लिए कई सेनाइयों ने एक जुट होकर अंग्रेजों के खिलाफ आन्दोलन शुरू किया था। इस आन्दोलन में महात्मा गांधी, भगत सिंह, सुभाष चंद्र बोस, चंद्रशेखर आजाद, लोकमान्य बालगंगाधर तिलक, सरदार वल्लभभाई पटेल, झांसी की रानी लक्ष्मीबाई और नानाराव, खुदीराम बोस, लाला लाजपत समेत कई सेनानियों ने अंग्रेजी हुकूमत को ललकारा। आखिरकार अंग्रेजों को भारत से खदेड़ दिया लेकिन इस जंग में हमारे देश के कई सारे वीर सपूत शहीद हो गए।

भारत को अंग्रेजों से आजादी 15 अगस्त 1947 की आधी रात को मिली थी, तभी से इस दिन को देश भर में स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। 15 अगस्त के दिन उन हजारों सेनानियों को याद किया जाता है, जिन्होंने देश की आजादी के लिए अपने प्राण तक न्योछावर कर दिया।

स्वतंत्रता दिवस का महत्त्व – Importance of Independence Day in Hindi

15 अगस्त हर भारतीय के लिए बहुत महत्त्वपूर्ण दिन होता है। क्योंकि इस दिन हमारा देश अंग्रेजों से पूरी तरह से आजाद हुआ था। इस आजादी के लिए हमारे देश के वीर सपूतों ने अपने प्राण न्यौछावर किये हैं। इस दिन हम सब तिरंगे के नीचे खड़े होकार राष्ट्रगान गाते हैं और देश के वीर सपूतों को याद करते हैं।

स्वतंत्रता दिवस हर भारतीय के लिए एक प्रेरणा दिवस होती है। यह हमें अहसास दिलाती है कि आज हम जिस भारत में आराम से रहते हैं और आजादी से घूमते हैं। इसके लिए हमारे देश कई सेनानियों ने अपने प्राण न्यौछावर किये हैं तब जाकर देश को आजादी मिली है। इसलिए हमें इस देश पर गर्व होना चाहिए और निःस्वार्थ भाव से इसकी गरिमा बढ़ाने का प्रयास करना चाहिए।

देश की स्वतंत्रता के लिए स्वतंत्रता सेनानियों का योगदान

भारत को आजाद करने के लिए हमारे देश के स्वतंत्रता सेनानियों का बहुत बड़ा योगदान है। अंग्रेजों को भारत पर राज करते हुए लगभग 200 वर्ष से अधिक समय हो गया था। इसके बाद हमारे देश के बापू महात्मा गांधीजी ने अपनी आवाज उठाई और अंगेजों के खिलाप आन्दोलन शुरू किया। गाँधी जी ने सत्य और अहिंसा को अपना हथियार बनाकर लड़ाई शुरू की।

गांधी जी के इस विचारधारा से प्रेरित होकर देश के बहुत सारे देशवासियों एकजुट होकर आन्दोलन करना शुरू किया। धीरे-धीरे यह आन्दोलन तेज होता गया पूरे हिंदुस्तान में फैल गया। अंग्रेजी हुकूमत को खत्म करने के लिए कुछ ऐसे सेनानियों ने हिस्सा लिया जो हसते-हसते अपने प्राण तक न्यौछावर कर दिए। जिनमें मुख्य क्रांतिकारियों के नाम हैं जैसे मंगल पांडे, चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह राजगुरु, सुखदेव आदि। आखिरकार 15 अगस्त 1947 को अंग्रेज पूरी तरह भारत को छोड़ने पर मजबूर हो गए।

स्वतंत्रता दिवस पर निबंध 10 लाइन – 10 Lines on Independence Day in Hindi

  1. स्वतंत्रता दिवस भारत में हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है।
  2. 15 अगस्त 1947 को हमारा भारत देश आजाद हुआ था।
  3. 15 अगस्त को देशभर में राजकीय अवकाश होता हैं।
  4. स्वतंत्रता दिवस किसी धर्म या जाति का नहीं होता बल्कि पूरे देश का पर्व होता है।
  5. 15 अगस्त को राष्ट्रगान और राष्ट्रगीत गाया जाता है।
  6. इस अवसर पर थल सेना, जल सेना और वायु सेना द्वारा परेड निकाली जाती है।
  7. इस दिन सरकारी और गैर सरकारी दफ्तर, कार्यालयों में तिरंगा फहराया जाता है।
  8. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर वीर सपूतों को याद करके उन्हें श्रद्धांजलि दी जाती हैं।
  9. देश के नाम प्रधानमन्त्री इस दिन लाल किले में तिरंगा फहराते हैं।
  10. इस दिन लोग तिरंगे के तीन रंग के अनुसार कपड़े पहनते है।

इन्हें भी पढ़े –

5/5 - (1 vote)

Leave a Comment